रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय – Remedies for Increasing Immunity

immunityप्रतिरक्षा प्रणाली या रोग प्रतिरोधक क्षमता मानव शरीर की सबसे आवश्यक प्रणाली में से एक है। यह बेहद जरूरी है कि लोग एक स्वस्थ और फिट जीवन जीने के लिए प्रतिरक्षा प्रणाली को सही ढंग से बनाए रखें ।आईये जानिए इम्युनिटी बढ़ाने के तरीके इन हेल्थ टिप्स के माध्यम से।

हालांकि, आज की जीवनशैली एक प्रतिरक्षा प्रणाली की ओर अग्रसर है जो दिन-प्रतिदिन खराब हो रही है। प्रतिरक्षा बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक और घरेलु उपाय :

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए जड़ी बूटी

1. इचिनेसिया (इचिनेसिया एंजस्टिफोलिया)

इचिनेसिया सामान्य सर्दी, इन्फ्लूएंजा, गले में गले, सूजन, टोनिलिटिस, सांप काटने, दांतों और कई अन्य संक्रमणों के इलाज के लिए सहायक है। यह एक immunostimulant के रूप में कार्य करता है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए सबसे प्रभावी जड़ी बूटियों में से एक है।

2. एस्ट्रैग्लस (एस्ट्रैग्लस प्रोपिनक्वस)

इस औषधीय पौधे प्रतिरक्षा प्रणाली पर एक उत्तेजक कार्रवाई है। यह इंटरफेरॉन के उत्पादन को उत्तेजित करता है, सामान्य सर्दी और खांसी का इलाज करता है, और कैंसर कोशिकाओं और ट्यूमर के विकास को रोकता है।

3. गिन्सेंग (पैनएक्स जीन्सेंग)

जीन्सेंग प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए एक और अत्यधिक उपयोगी जड़ी बूटी है। गिन्सेंग में गिन्सनोसाइड्स शामिल हैं। इसमें कैंसर विरोधी और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण हैं।

प्रतिरोधक क्षमता प्रतिरक्षा बढ़ाने के लिए घरेलू उपचार

4. लहसुन

लहसुन में एंटी-वायरल, एंटी-बायोटीक और एंटी-फंगल विशेषताएं होती हैं। इस प्रकार, इसमें आसानी से विभिन्न विकारों से लड़ने की क्षमता है। यह एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी मदद करता है।

लहसुन खांसी, ठंड, गले में संक्रमण, सूजन आंत्र सिंड्रोम, विभिन्न प्रकार के गठिया से लड़ता है।

5. शहद

प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए शहद  एक और महत्वपूर्ण घरेलू उपाय है। इसमें एंटी-ऑक्सीकरण और एंटी-माइक्रोबियल विशेषताएं हैं। यह रक्त शर्करा, गले में खराश, एसिड भाटा, घाव उपचार, निशान उपचार और कई अन्य लोगों को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह बैक्टीरिया, कवक और वायरस जैसे सूक्ष्मजीवों से संबंधित संक्रमणों से लड़ने में भी मदद करता है।

इन घरेलू उपचारों के अलावा, प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में हरी चाय, दही, मीठे आलू, मशरूम और केयर्न मिर्च भी सहायक होते हैं।

प्रतिरक्षा बढ़ाने के लिए जीवन शैली विकल्प

6. एक संतुलित आहार खाओ।

प्रत्येक व्यक्ति को एक संतुलित आहार का पालन करना चाहिए। संतुलित आहार में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, वसा, विटामिन और खनिजों की उचित मात्रा होनी चाहिए। खाद्य पदार्थों में ताजा फल और हरी पत्तेदार सब्जियां शामिल होनी चाहिए। सेम, फलियां और मांस, आदि, खाया जाएगा लेकिन हमेशा उचित मात्रा में।

7. बहुत सारे पानी लो।

शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने के लिए प्रतिदिन न्यूनतम 8 गिलास पानी पीना आवश्यक है। पानी शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल देता है। यह प्रणाली को साफ करता है और चयापचय प्रक्रियाओं को ठीक से करने में मदद करता है।

8. नियमित रूप से व्यायाम करें।

एक स्वस्थ प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने में प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट के लिए शारीरिक गतिविधियों को लेना बहुत महत्वपूर्ण है। यह शरीर के परिसंचरण तंत्र और संवहनी तंत्र को प्रभावी ढंग से बनाए रखने में मदद करता है।

9. पर्याप्त नींद लें।

कम से कम 8 घंटे के लिए नींद लें । प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में यह बहुत महत्वपूर्ण है। मस्तिष्क और शरीर के अन्य अंगों के उचित कामकाज के लिए बाकी की उचित मात्रा आवश्यक है। यह बीमारियों से लड़ने के लिए शरीर को तैयार करने में मदद करता है।

10. धूम्रपान छोड़ो।

धूम्रपान स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है। तंबाकू का सेवन शरीर और उसके विभिन्न प्रणालियों के सामान्य कामकाज को प्रभावित करता है। इसलिए, एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली के साथ स्वस्थ जीवन के लिए धूम्रपान छोड़ना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

जड़ी बूटी और घरेलू उपचार के साथ इन प्राकृतिक उपचारों में आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत और बनाए रखने के कुछ बुनियादी तरीके हैं। इन उपचारों का उपयोग करें, और एक स्वस्थ जीवन का नेतृत्व करें!

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Translate »