Home / घरेलू नुस्खे - Gharelu Nuskhe / एसिडिटी के घरेलू उपाय / नुस्खे – Home Remedies for Acidity in Hindi

एसिडिटी के घरेलू उपाय / नुस्खे – Home Remedies for Acidity in Hindi

एसिडिटी तब होती है जब पेट में एसिड का स्तर अधिक हो । एसिडिटी खाली पेट चाय, कॉफी, धूम्रपान के अत्यधिक सेवन से हो सकती है । जब एसिड का स्राव सामान्य से अधिक होता है – हमें एसिडिटी का अनुभव होता है या एसिड भाटा या जी.आर.डी (गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स रोग), जो आम तौर पर जब हम एक भारी भोजन या मसालेदार भोजन खाते हैं तब ट्रिगर होता हैं ।

यहां आपकी रसोई में उपलब्ध कई सरल तत्व हैं जो पेट की एसिडिटी से छुटकारा दिला सकते हैं ।

1.छाछ

जब आपको एक भारी या मसालेदार खाना खाने के बाद एसिडिटीहोती हो, तब आप एक गिलास छाछ  काली मिर्च डालकर पी सकते हैं और एसिडिटी से मुक्ति पा सकते हैं । आप मीठी या नमकीन दोनो तरह की छाछ का सेवन कर सकते हैं ।

शीत दूध

असिडिटी से तुरंत राहत पाने के लिए आप ठंडा दूध 1/3 पानी डालकर सेवन कर सकते हैं और कुछ ही सेकेंड्स मैं राहत महसूस कर सकते हैं । दूध पेट में गैस्ट्रिक एसिड के स्तर को स्थिर करने में मदद करता है।

3.सौंफ

भोजन के बाद, सौंफ एसिडिटीको रोकने के लिए लाभकारी है । सौंफ की चाय पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करने के लिए जानी गयी है। सौंफ बदहजमी को भी दूर करती है और पाचन क्रिया में उपयोगी होती है ।

4.नारियल पानी

जब आप नारियल का पानी पीते हैं , तो आपके शरीर का पीएच अम्लीय स्तर संतुलित हो जाता है । यह आपके पेट में म्यूकस उत्पन्न करने में भी मदद करता है, जो अत्यधिक अम्ल उत्पादन के हानिकारक प्रभावों से पेट को बचाता है।

5.केला

केले में प्राकृतिक एंटीसिड्स मौजूद हैं जो एसिड रिफ्लक्स के खिलाफ बफर के रूप में कार्य कर सकता है। एसिडिटी से छुटकारा पाने के लिए यह सबसे सरल उपाय है। परेशानी को रोकने के लिए प्रति दिन एक केला खाएं।

6.जल जीरा

जीरा एक महान एसिड नियंत्रक है, और पाचन को ठीक रखने मैं सहायक है । आप थोड़ा भुना हुआ जीरा लेकर कुचल दें, इसे एक गिलास पानी में डालकर या जीरा के एक बड़े चम्मच के साथ उबले हुए पानी में डाल दें और हर भोजन के बाद इसे पीएं।

About hnu

Check Also

holding stomach

किडनी इन्फेक्शन के घरेलू उपाय

जब आपका गुर्दा संक्रमित हो जाता है, तो यह आपके जीवन के उस चरण में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »